सर्दी में होने वाली समस्याओं से पाएं छुटकारा ऐसे करें खुद की देखभाल!

0
430
How to care myself in winter

लोगों का मानना है सर्दी का मौसम सबसे अच्छा होता हैं। परन्तु तब तक के लिए ही जब तक कड़कड़ाती ठण्ड नहीं आती है। जब ठण्ड के मौसम की शुरुआत होती है. तो हल्की-हल्की शीतल हवा मनुष्य तथा अन्य जीव जन्तुओ को गर्मी से राहत दिला कर आनंदित कर देती है। परन्तु हर मौसम में कुछ न कुछ समस्या होती ही रहती है। सर्दी में भी जैसे ही मौसम बदलता है. वैसे ही हमारे शरीर के अंदर भी बहुत से बदलाव आते हैं। खासकर सर्दी, जुकाम तथा स्किन से संबंधित बहुत सारी समस्याएं उत्पन्न हो जातीं हैं।

दरअसल होता ऐसा है की ठण्ड के मौसम में शुष्क हवाएं त्वचा के अनुकूल नहीं होती है। ठंडे तापमान में आर्द्रता लेवल कम हो जाता है। तथा ठंडी और शुष्क हवाएं हमारे त्वचा से नमी चुरा लेती है। तथा इस मौसम में घर के अंदर गर्म वातावरण तथा घर के बाहर ठंड वातावरण मानव जीवन में कुछ समस्याएं लेकर आती है। तो आइये जानते है उन सामान्य समस्याओं को जिनका सर्दी के मौसम में प्रत्येक मनुष्य को सामना करना पड़ता है।

सर्दी-जुकाम (Cold)

Cough-Cold Problems

सर्दी के मौसम की जैसे ही शुरुआत होती है. लगभग सभी मनुष्य सर्दी-जुकाम से परेशान हो जाते है। दरअसल विशेषज्ञों का मानना है की बरसात के मौसम में भी गर्मी होती है। जिसके कारण मनुष्य के शरीर का तापमान बढ़ा होता है। और जैसे ही मौसम बदलता है मनुष्य के शरीर की कोशिकायें खुद को मौसम के अनुरूप ढालती है। जिसके कारण सर्दी के शुरुआत में सर्दी-जुकाम होना आम बात होती है।

फटी हुई एड़ियां (Cracked heels)

How to soften the ankles

और पढ़ें:- जानिए कैसे पाएं गुलाबजल से सुन्दर त्वचा

ठण्ड के मौसम में तापमान गिरने तथा शुष्क हवाओं के चलने से मनुष्य को फटी हुई एड़ियां भी बहुत परेशान करती है। जो पश्चिमी तट की ठंडी तथा तेज हवा की वजह से होती है। ये समस्या कुछ लोगो में बहुत दुखदायी होती है तथा कुछ लोगो के एड़ियों से खून भी निकलने लगता है। इसलिए ठण्ड के मौसम में अपने एड़ियों का अच्छे तरीके से देखभाल करे तथा गर्म जुराबे पहनें। तथा इसा समस्या से राहत पाने के लिए एड़ियों को नारियल के तेल या अच्छे क्रीम से मॉइश्चराइज करें।

फटे हुए होंठ (Cracked lips)

Tips for soft Lips

और पढ़ें:- सर्दियों में बालो की देखभाल तथा झड़ने से बचाव के तरीके !

सर्दियों के मौसम में वातावरण में बहुत कम नमी होती है। इस वजह से होंठ असर फटने लगते है तथा होंठो से खून निकलने लगता है। चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार जो मनुष्य विटामिन “ए” के सप्लीमेंट लेते है उनके होंठ फटने की संभावना और अधिक होती है। तथा जिस मनुष्य की स्किन ड्राई होती है उनको भी यह समस्य ज्यादा होती है। इस समस्या से छूटकरा पाने के लिए अपने होंठो की अच्छे से केयर करे। अधिक पानी पीये, होंठो को किसी क्रीम की मदद से मुलायम रखे तथा कभी सूखने ना दे।

शेविंग कट्स (Shaving Cuts)

Avoid saving cuts

और पढ़ें:- टमाटर के फायदे : त्वचा,स्वास्थ्य और बालों के लिए

जैसा की बताया इस मौसम में नमी न होने की वजह से स्किन बहुत ही सेंसेटिव तथा ड्राई हो जाते है। जिसके कारणवश शेविंग करते वक्त कट्स लग जाने की सम्भावना बाकि के मौसम के अपेक्षा अधिक होती है। जिससे चेहरे कर घाव तथा सूखने के बाद निशान रह जाते है। इसलिए इस मौसम में चेहरे को हमेशा मुलायम रखे तथा शेविंग के समय किसी मॉइश्चराइजिंग फोम का प्रयोग करें। ताकि आप की स्किन ज्यादा ड्राई न रहे और चेहरे पर कट लगने से बचे।

रूखी त्वचा (Dry skin)

Tips for Glowing skin

इस मौसम में आपके शरीर के त्वचा से नमी गायब हो जाती है। चाहे आप कितना भी खुद को गर्म रखते है, शरीर की त्वचा खुरदरी और रूखी हो जाती है। और त्वचा की ऊपरी भाग सफ़ेद नजर आने लगती है। त्वचा को मुलायम रखने के लिए क्रीमी साबुन साबुन का इस्तेमाल करे। या नहाने से पहले शरीर की दूध से मिलने वाली छाली से मालिश करे। तथा नहाने के बाद किसी क्रीमी लॉसन से बॉडी को मॉइश्चराइज करें। इसके प्रयोग से रूखी त्वचा से छुटकारा मिलता है, तथा त्वचा में निखार तथा रंगत आती है।

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे, धन्यवाद!!

 

Ayurvedic Health Care Advertisement