Advertisement
Home Health (स्वास्थ्य)

Health (स्वास्थ्य)

Health (स्वास्थ्य) : जब स्वास्थ्य की बात आती है, तो कोई भी इंसान पूर्णतः बेदाग स्थितियों में नहीं पलता। हम जो भोजन करते हैं, हम जिस हवा में सांस लेते हैं, हम जो पानी पीते हैं, रोजमर्रा की जिंदगी के तनाव, ये सब हमें कई प्रकार से प्रभावित कर सकते हैं।
Health (स्वास्थ्य)
संसार में हम जितने अधिक सक्रिय रहते हैं, उतनी ही नकारात्मक चीजों के संपर्क में आते हैं जो हमारे रसायनिक संतुलन को बिगाड़ देती हैं, हमारे लिए स्वास्थ्य-समस्याएं खड़ी कर देती हैं। लेकिन, यदि अपने तंत्र में ऊर्जा को सही ढंग से तैयार किया जाए और उसे सक्रिय रखा जाए, तो इन चीजों का असर नहीं होगा।
भौतिक और मानसिक शरीर पूरी तरह स्वस्थ रहेंगे, इसमें कोई शक नहीं। यदि कोई संपूर्णता और एकत्व का अनुभव करना चाहता है, तो ज़रूरी है कि उसका शरीर, मन और मुख्य रूप से उसकी ऊर्जा एक खास स्तर की तीव्रता में उसके भीतर काम करें।
अब चिकित्सा विज्ञान के अनुसार कोई शारीरिक रूप से स्वस्थ हो सकता है, पर उसकी ऊर्जा शिथिल हो सकती है। किसी व्यक्ति को यह पता नहीं चलता कि क्यों भीतरी और बाहरी जीवन में चीजें वैसी नहीं हो रही जैसा उन्हें होना चाहिय? क्योंकि वह अपनी ऊर्जा की कुशलता की परवाह नहीं करता।

No posts to display

- Advertisement -

LATEST NEWS

MUST READ