कील-मुंहासो से छुटकारा दिलाने में अत्यंत लाभकारी है ये घरेलू उपाय आज ही आजमाए !

0
280
Solution of pimples problem

आजकल युवा कील-मुंहासों की समस्या से ज्यादा परेशान हैं। इनसे निजात पाने के लिए वो हर संभव नुस्खा और इलाज अपनाते हैं। कील-मुंहासे स्किन से संबंधित वो अवस्था है जिसमें चेहरे पर काले या लाल रंग के दाने जैसे हो जाते हैं और जब उन्हें दबाया जाता है तो सफेद रंग का अपशिष्ट पदार्थ निकलता है। इन्हें दबाना ठीक नहीं होता क्योंकि इसके बाद चेहरे पर गहरे दाग-धब्बे बन जाते हैं जिनसे छुटकारा पाना और भी मुश्किल हो जाता है। वैसे तो 17-21 वर्ष की उम्र में मुँहासों का होना सामान्य है। क्योंकि इस उम्र में हार्मोन्स जैसे- एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन घटते और बढ़ते रहते हैं जिसकी वजह से चेहरे में तेल का स्राव ज्यादा होने लगता है और चेहरे पर मुँहासे होने लगते हैं। लेकिन शायद आप ये जानकर आश्चर्यचकित हो जायेंगे कि आयुर्वेद के अनुसार घरेलू नुस्खे मुँहासों के लिए ज्यादा फायदेमंद होती है।

आइये जानते है कील-मुंहासे हटाने के घरेलु उपाय:-

नीम (Neemb):-

जैसा की सब जानते हैं की नीम सभी प्राकर्तिक औषधियों में सबसे उत्तम है। त्वचा के लिए नीम बहुत उपयोगी होता है। नीम की पत्तियों को पीसकर एक साफ़ कपड़े से निचोड़ कर जूस निकल लें। यह जूस चेहरे पर लगाने के कुछ देर बाद चेहरा साफ़ पानी से धोने से पिंपल्स में राहत मिलती है। ऐसा नियमित करने से पिंपल्स पूरी तरह ख़तम हो जाते है और कोई दाग-धब्बे भी नहीं रहते।

जीरा (Cumin):-

एक या दो चम्मच जीरे को पानी के साथ पीस कर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को चेहरे पर दिन में 1 बार लगाएं फिर एक घंटे बाद चेहरा साफ पानी से धो लें। यह नुस्खा पिंपल्स को ठीक करने में बहुत सहायक है।
और पढ़े:- जानिए कैसे पाएं गुलाबजल से सुन्दर त्वचा

लहसुन (Garlic):-

अति गुणकारी लहसुन की 3-4 कलियों को 2-3 लौंग के साथ पीसकर पिंपल्स पर लगाएं और कुछ देर रखने के बाद गुनगुने पानी से धो लें । इस उपाय से पिम्पल्स से काफी हद तक निजाद मिलता है।

हल्दी (Turmaric):-

हल्दी एंटीबैक्टीरियल तत्वों का अद्भुत स्त्रोत है। त्वचा की खूबसूरती बढ़ाने तथा त्वचा सम्बन्धी रोगों से छुटकारा पाने के लिए युगों युगों से हल्दी का प्रयोग निःसंकोच किया जाता है। थोड़ी सी हल्दी को पानी या दूध में मिलाकर पिंपल्स पर लगाईए और फिर 10 मिनट बाद साफ पानी से धो लीजिए ऐसा नियमित करने से निश्चित तौर पर पिंपल्स से छुटकारा मिल जाएगा।
और पढ़े:जानिए आपके घर पर उपलब्ध हल्दी के फायदे!

मुल्तानी मिट्टी (Multani Mitti):-

मुल्तानी मिट्टी तैलीय और मुँहासे प्रवण त्वचा के लिए अच्छी है और यह अतिरिक्त तेल को अवशोषित कर, उनको रोम छिद्र से मुक्त करती है। यह आपके रंग में सुधार करने में भी मदद करती है।

एलोवेरा जैल (Elovera Gel):-

एलोवेरा में सुखदायक और सूजन को कम करने वाले गुण होते है। जो कुछ दिन में मुँहासे का इलाज कर सकते है। एलोवेरा जैल मुँहासो के निशानों के उपचार में भी सहायक है।

पुदीना (Peppermint):-

पुदीने में पाए जाने वाला मेंथॉल, पिंपल्स में हो रही जलन को कम करता है, और चेहरा साफ़ भी करता है। पुदीने के रस को पिंपल्स पर समय समय पर लगाते रहने से पिंपल्स छूमंतर हो जाते हैं।

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे, धन्यवाद!!

Ayurvedic Health Care Advertisement