खून को पतला तथा ब्लड सर्कुलशन को सुधार हार्ट अटैक से बचाते है ये 5 फ़ूड !

0
536
Substances that improve blood circulation

 

कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनके उपयोग से हम अपने रक्त संचार में सुधार करके हार्ट अटैक तथा अन्य कई बिमारियों से बच सकते है। ऐसे ही कई खाद्य पदार्थ हैं, जो रक्त का थक्का बनने से रोकते है और खून को शुद्ध तथा पतला रखते है। इससे पहले की प्राकृतिक तरीके से खून को पतला करने वाले खाद्य पदार्थों के बारे में जाने। उससे भी जरुरी ये जानना है की रक्त का थक्का बनना क्या होता है। यह कब बनता है और मानव शरीर को किस तरह प्रभावित करता है।

रक्त का थक्का बन जाना एक प्राकृतिक गतिविधि है। यह प्रक्रिया आपके शरीर पर चोट या फिर कट जाने पर रक्तस्राव को रोकने के लिए होती है। परन्तु शरीर के कुछ महत्वपूर्ण हिस्से है जिनमे से रक्तस्राव होना ही उचित माना जाता है। क्योंकि उन हिस्सों में थक्का जम जाना एक गंभीर जानलेवा बीमारी का रूप ले सकती है। शरीर के वो महत्वपूर्ण हिस्से है हृदय, फेफड़े तथा मस्तिष्क अगर इन हिस्सों में थक्के बन गए और समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। ये थक्के धमनी या शिरापरक रक्त वाहिकाओं में हो सकते हैं। यह तब होता है जब रक्त का थक्का टूटकर रक्त के साथ नलिकाओं में बहने लगता है। उस अवस्था में यह हृदय, फेफड़े तथा मस्तिष्क जैसे महत्वपूर्ण अंगों में रक्त प्रवाह को बाधित करता है। जिसके परिणामस्वरूप स्ट्रोक होने का डर रहता है।

रक्त के थक्के तथा स्ट्रोक के ख़तरे को कम करने में ये 5 आहार हमारी मदद कर सकते है:-

हल्‍दी (Turmeric):-

हल्दी भारत का एक महत्वपूर्ण मसाला है, जो ब्यंजन को स्वादिष्ट तथा पीला रंग देता है। परन्तु इसमें औषधीय गुण होने के कारण इसे चिकित्सा सामग्री के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। एक शोध के अनुसार हल्‍दी में करक्यूमिन मौजूद होता है, जो रक्त का थक्का बनने से रोकता है। यह थक्का बनने से रोकने के लिए थक्का बनाने वाले घटको को रोकता है।

Turmeric prevents blood clots

जाने मानव जीवन में कितना लाभकारी है हल्दी अभी पढ़े-

अदरक (Ginger):-

आयुर्वेद के अनुसार तथा चिकित्सा विशेषज्ञों का भी ये मानना है की अदरक मानव जीवन में एक आयुर्वेदिक औषधि (Ayurvedic Medicine) का काम करता है। सुबह के समय अदरक का उपयोग आपके तनाव को कम करने के साथ अन्य भी कई समस्याओ का समाधान है। जब रक्त को पतला या सूजन को कम करने के साथ मांशपेशियों को आराम देने की बात हो इसमें अदरक बहुत ही फायदेमंद माना गया है। अदरक में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण होता है, यह सूजन को कम करने के साथ रक्त को भी पतला करता है।

Ginger helps in stopped blood clots

लाल मिर्च (Red Chilli):-

वैसे तो लाल मिर्च का अधिक मात्रा में उपयोग करने से डॉक्टर्स वर्जित करते है। परन्तु इस समस्या में लाल मिर्च बहुत ही फायदेमंद होता है। लाल मिर्च में मौजूद सैलिसिलेट्स रक्त को पतला करने में अहम भूमिका निभाता है। दैनिक आहार में लाल मिर्च का उचित मात्रा में सेवन करने से रक्तचाप कम हो जाता है तथा रक्तसंचार बेहतर हो जाता है।

Red chili helps to thin the blood

दालचीनी (Cinnamon):-

दालचीनी का उपयोग हम अपनी जीवन में दैनिक आधार पर पकवानो को स्वादिष्ट और खुशबूदार बनाने के लिए करते है। परन्तु इसके आलावा भी इसमें औषधीय गुण पाए जाते है। दालचीनी रक्तचाप को कम तथा थक्का बनाने वाले घटको को रोकने में सक्षम है। इसके प्रयोग से स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है। परन्तु अधिक मात्रा में तथा लम्बे समय तक इसका उपयोग करने से आपका लीवर कमजोर हो सकता है इसलिए आप उचित मात्रा में इसका उपयोग करें।

Cinnamon is the best solution for blood clots

औषधीय गुण वाले मसाले जिनकी विशेषताओं से है आप अपरिचित-

सैल्मन (Salmon):-

विशेषज्ञों का मानना है कि ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे सैल्मन, टूना और ट्राउट रक्त को पतला करने में सहायक होते है। ये पदार्थ हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते है। इसके साथ-साथ ये रक्त में थक्का जमने की प्रक्रिया को भी कम करने में मददगार होते है।

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे, धन्यवाद!

Ayurvedic Health Care Advertisement