यीस्ट के फायदे और नुकसान

0
391
Yeast Benefits And Uses In Hindi

Yeast Benefits And Uses In Hindi : यीस्ट Yeast एक कोशिका वाले ओवल आकार के अति सूक्ष्म कवक होते हैं। ये कवक माइटोसिस Mitosis अथवा बडिंग Budding प्रक्रिया के द्वारा यानि विघटित होकर खुद के जैसे अनेक नए कवक का सृजन कर सकते हैं।

ये कवक इतने सूक्ष्म होते हैं कि माइक्रोस्कोप से ही देखे जा सकते हैं। जिस प्रकार दही के कीटाणु माइक्रोस्कोप से ही देखे जा सकते है। शक्कर इनका आहार होती है। ये शक्कर को अल्कोहोल और कार्बन डाई ऑक्साइड गैस में परिवर्तित कर देते हैं।

यीस्ट कैसे काम करता है (How Yeast Works):

जब मैदा के आटे में यीस्ट तथा चीनी मिला कर कुछ घंटे रखा जाता है तो कार्बन डाई ऑक्साइड गैस तथा एल्कोहॉल का निर्माण होता है। आटे के लचीलेपन के कारण गैस बाहर नहीं निकल पाती।

इस वजह से आटा फूल जाता है यानि आटे में गैस इकट्ठी हो जाती है। इस प्रक्रिया में बनने वाले एथिल अल्कोहोल Ethyl alcohol के कारण ब्रेड में विशेष स्वाद और महक पैदा होती है।

Yeast एल्कोहॉल की उत्पत्ति करता है । इसलिए इसका उपयोग बियर या शराब बनाने के लिए भी किया जाता है।

26 डिग्री सेल्सियस से 33 डिग्री सेल्सियस का तापमान यीस्ट के लिया अत्यधिक अनुकूल होता है। 55 डिग्री या अधिक तापमान इन्हे नष्ट कर देता है। इसलिए यीस्ट के सही उपयोग और कार्य के लिए सही तापमान का होना आवश्यक होता है।

यीस्ट के फायदे (Yeast Benefits):

यीस्ट मे कई प्रकार के पोषक तत्व होते हैं जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते है और ऊर्जा का स्तर बढ़ाने में सहायक होते है। यह प्रोटीन, आयरन, जिंक, मेग्नेशियम, पोटेशियम, सेलेनियम आदि का अच्छा स्रोत है। इसके अलावा इसमें विटामिन B समूह के B1, B2, B3, B6, B9 आदि पाए जाते हैं।

Yeast में प्रोबायोटिक गुण होते है जिसके कारण आंतों में फायदेमंद बैक्टीरिया को मदद मिलती है।

यह त्वचा, बाल और आँखों के लिए भी फायदेमंद होता है। यीस्ट टाइप 2 डायबिटीज से ग्रस्त लोगों के लिए लाभदायक होता है।

यीस्ट से नुकसान (Yeast Side Effects):

यीस्ट से कुछ लोगों को एलर्जी हो सकती है। यदि सीने में तकलीफ हो, गला भींचता हुआ सा महसूस हो तो या साँस लेने में दिक्कत महसूस हो तो Yeast का उपयोग नहीं करना चाहिए।

यीस्ट के अधिक उपयोग से कुछ लोगों को गैस, पेट फूलना या हल्का सिरदर्द भी महसूस हो सकता है। यदि इस प्रकार के लक्षण से दिक्कत होती हो तो Yeast युक्त सामग्री का उपयोग ना करें।

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे। धन्यवाद।

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे इंस्टाग्राम पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे टवीटर पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें

 

Ayurvedic Health Care Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here