मलेरिया के बुखार से बचने के घरेलू उपचार

6
518
Malaria Ke Lakshan

Malaria Ke Lakshan Aur Gharelu Ilaj In Hindi : मलेरिया एक संक्रामक रोग है, जो की मादा मच्छर एनोफिलेज़ के प्रोटोज़ोआ परजीवी के द्वारा फैलता है, इसका कारण होता है जब यह मादा मच्छर आपको काटता है तो मलेरिया के परजीवी आपकी लाल रक्त कोशिकाओं में प्रवेश करके बढ़ने लगते है, और आपको बुखार आने लगता है, इसके साथ थकान, सर्दी, उबकाई, जुखाम आदि का अहसास भी होने लगता है, इस समय रोगी के शरीर का तापमान 101 से 105 डिग्री तक होने लगता है, और सांस फूलने, चक्कर आने भी शुरू हो जाते है।

Malaria Ke Lakshan

यदि आपको ऐसा एक भी लक्षण अपने अंदर महसूस हो और थकान का अनुभव होने लगे तो आपको एक बार डॉक्टर के पास जाकर अपने खून की जांच जरूर करवानी चाहिए, क्योंकि यदि यह आपके शरीर को पूरी तरह जकड लेता है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक सिद्ध हो सकता है, डॉक्टरी सलाह के अलावा आइये आज हम आपको मलेरिया से राहत के लिए कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे है जो आपको मलेरिया के बुखार से बचाने में मदद करते है, लेकिन इसके साथ आपको डॉक्टरी दवाइयों का भी इस्तेमाल करना चाहिए ताकि आप जल्दी ठीक हो सकें।

मलेरिया के लक्षण (Symptoms Of Malaria):

  • इसके कारण आपको सबसे पहले ठण्ड लगने लगती है।
  • सर दर्द, चक्कर, शरीर के सभी हिस्सों में दर्द का अनुभव होने लगता है।
  • थकावट महसूस होने लगती है, शरीर में कमजोरी आ जाती है।
  • भूख नहीं लगती है।
  • सास फूलने लगती है, तेज चलने लगती है, सांस लेने में तकलीफ का अनुभव होता है।
  • ठण्ड के साथ बुखार भी तेजी से बढ़ता है।
  • घबराहट होने लगती है, जी मचलाने लगता है।
  • मलेरिया होने पर आपकी आँखे भी थका हुआ महसूस करती है जिसके कारण आपको कम दिखाई देता है।
  • शरीर में खून की कमी होने लगती है।

मलेरिया के लिए घरेलू उपचार (Home Remedies For Malaria):

तुलसी (Basil)-

तुलसी को एक आयुर्वेदिक औषधि माना जाता है, साथ ही इसका इस्तेमाल बहुत सी दवाइयों को बनाने में भी किया जाता है, मलेरिया के उपचार में भी तुलसी आपकी बहुत मदद करती है, इसके इस्तेमाल के लिए आप दस ग्राम तुलसी के पत्ते को सात आठ काली मिर्च के साथ पीस कर, साथ में थोड़ा पानी भी मिलाएं, एक मिक्सचर तैयार करें, आप चाहे तो इसमें शहद भी मिला सकते हैं, सुबह शाम इसका सेवन करने से आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है।

अदरक (Ginger)-

अदरक का इस्तेमाल करने से न केवल आपकी सब्ज़ी और चाय का जायका बढ़ता है, बल्कि मलेरिया से निजात दिलाने में भी अदरक का इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है, इसके इस्तेमाल के लिए आप थोड़ी सी अदरक लेकर उसमे दो तीन चम्मच किसमिश डालकर एक गिलास पानी में अच्छे से उबालें, और जब तक उबालते रहें जब तक की पानी आधा न रह जाएँ, और इसके थोड़ा ठंडा होने पर दिन में कम से कम दो बार इसका सेवन करें, आपको फायदा मिलेगा, इसके अलावा हरसिंगार के पत्ते के साथ अदरक का रस और शक्कर मिलाकर सेवन करने से भी आपको मलेरिया से आराम मिलता है।

नीम (Azadirachta Indica)-

Malaria Ke Lakshan

नीम भी एंटी बैक्टेरियल गुणों से भरपूर होता है, और आप इसे वायरस रोधी पेड़ भी कह सकते है, नीम के पेड़ की छाल का काढ़ा पीने से आपको मलेरिया बुखार से राहत पाने में मदद मिलती है, इसके अलावा आप नीम के थोड़े से हरे पत्तों को चार या पांच काली मिर्च के साथ पीस कर अच्छे से पानी में उबाल लें, और उसके बाद छानकर इस पानी का सेवन करें, या आप नीम के तेल में नारियल या सरसों का तेल मिलाकर हल्का गरम करके अपनी मसाज करें, ऐसा करने से भी आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है।

गिलोय (Giloy)-

गिलोय की बेल भी किसी भी तरह के बुखार से निजात पाने और इनके वायरस से लड़ने में मदद करती है, इसके इस्तेमाल के लिए आप गिलोय की बेल की डंडियों मको पानी में उबाल लें, और अच्छे से इसे उबालने के बाद इसमें शहद मिलाकर चालीस से सत्तर मिलीमीटर पानी का नियमित सेवन करने से आपको मलेरिया से बचाव करने में मदद मिलती है, इसके अलावा आप मिट्टी के के छोटे बतरन में चालीस ग्राम गिलोय को पीस कर पानी के साथ मिलाकर रात भर के लिए ढक कर रख दें, और अगले दिन इसे छानकर दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें, आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलेगी।

अमरुद (Guava)-

अमरुद के सेवन से मलेरिया को दूर भगाने में बहुत मदद मिलती है, यदि किसी को मलेरिया हो जाएँ तो दिन में तीन से चार बार अमरुद का सेवन जरूर करना चाहिए, साथ ही अमरुद का बाहरी हिस्सा जरूर खिलाएं क्योंकि इसमें विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में होता है, जो आपको मलेरिया से बचाव करने में मदद करता है।

दालचीनी (Cinnamon)-

दालचीनी भी मलेरिया की समस्या से निजात पाने में आपकी मदद करती है, इसके इस्तेमाल के लिए आप एक छोटा चम्मच दालचीनी पाउडर को एक गिलास पानी में अच्छे से उबालें, और उसके बाद इसमें एक चुटकी कालीमिर्च और थोड़ा सा शहद मिलाएं, गुनगुना रहने पर इस पानी का सेवन करें, इसे भी दिन में कम से कम दो बार पीने से आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है।

जीरा (Cumin)-

Malaria Ke Lakshan

जीरे का इस्तेमाल करने के लिए आप एक चम्मच जीरा लें, और उसे अच्छे से पीस लें, उसके बाद इसमें उसका तीन गुना गुड़ मिला दें, और इन दोनों को अच्छे से मिक्स करें, और गोलियों के रूप में तैयार करें, उसके बाद इन गोलियों को दिन में तीन बार सुबह शाम दोपहर को पानी के साथ लें, नियमित ऐसा करने से इस बुखार को खत्म करने में आपको मदद मिलती है, और यदि आप गोलियां नहीं बनाना चाहिए तो तो इस मिश्रण को तीन हिस्सों में बांटकर पानी के साथ इसका सेवन करें आपको फायदा मिलेगा।

मलेरिया से बचने के अन्य उपाय (Other Ways To Avoid Malaria):

  • गुनगुने पानी में निम्बू डालकर दिन में दो बार उसका सेवन करने से भी आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलती है।
  • चकोतरा जो की एक फल है उसके नियमित सेवन से भी आपको मलेरिया से बचने में मदद मिलती है।
  • दस ग्राम अदरक को दस मुनक्के के साथ मिलाकर एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लें, उसके बाद जब पानी आधा रह जाएँ, तो इसे छानकर ठंडा करके दिन में दो बार इसका सेवन करें आपको फायदा मिलेगा।
  • फिटकरी को तवे पर अच्छे से भून लें, और उसके बाद उसका चूर्ण तैयार करें, उसके बाद उस चूर्ण को आधा चम्मच हर दो घंटे में पानी के साथ लें, ऐसा करने से आपको बुखार से राहत पाने में मदद मिलती है।
  • थोड़े से कालीमिर्च के पाउडर को पांच मिलीग्राम प्याज़ के रस में मिलाकर दिन में दो से तीन बार इसका सेवन करें, आपको मलेरिया से बचने में राहत मिलेगी।
  • जामुन के पेड़ की छाल को सूखा लें, और उसके बाद उसका चूर्ण तैयार करें, पांच ग्राम चूर्ण को थोड़े से गुड़ के साथ खाएं, इसके सेवन से आपको मलेरिया से राहत पाने में मदद मिलेगी।
  • संतरे के जूस का सेवन भी मलेरिया के रोगियों को पीना चाहिए।
  • बुखार के तेज होने पर माथे पर बर्फ के पानी की पट्टियां रखने से भी आपको आराम मिलता है।

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे। धन्यवाद।

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे इंस्टाग्राम पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे टवीटर पेज पर जाकर इसे लाइक करें

कृपया यहां क्लिक करें और हमारे यूट्यूब चैनल पर जाकर इसे सब्सक्राइब करें

Ayurvedic Health Care Advertisement

6 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here