इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या से राहत पाने का आयुर्वेदिक उपाय

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या में पुरुष के गुप्तांग में तनाव की कमी होती है। पुरुष पेनिट्रेटिव क्रिया में असमर्थ होता। आयुर्वेदिक जड़ीबूटियां इसमें लाभकारी हो सकती है।

0
72
ayurvedic remedies for erectile dysfunction

आइये जानते है इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या है, और छुटकारा कैसे पाए?

हम जानेंगे इरेक्टाइल डिसफंक्शन क्या है और इसका इलाज क्या है। आज कल के ख़राब जीवन शैली और अनुचित खानपान के कारण पुरुष कई प्रकार के यौन समस्याओं से परेशान है। यौन समस्याएं जैसे:- शीघ्रपतन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन (गुप्तांग में कड़कपन की कमी) सेक्स के प्रति अरुचि, धातु गिरने जैसी समस्याओं से अत्यधिक पुरुषों की यौन क्रिया बदहाल है। रोचक यौन क्रिया के लिए शरीर में पर्याप्त ऊर्जा और गुप्तांग में इरेक्शन का बने रहना बहुत ही जरुरी होता है। विशेषज्ञों के अनुसार यौन क्रिया के दौरान अधिक मात्रा में ऊर्जा की खपत होती है। इसलिए यौन कमजोरी से परेशान पुरुष अतिशीघ्र थकावट महसूस करने लगते है।

अब बात करते है पुरुषो की सबसे गंभीर समस्या के बारे में जो है इरेक्टाइल डिसफंक्शन यानि की गुप्तांग में तनाव की कमी। जब कोई ब्यक्ति सेक्स के लिए उत्तेजित हो जाता है तो उसे इरेक्शन महसूस होता है। ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि इस दौरान पुरुष का दिमाग गुप्तांग की नसों में रक्त प्रवाह में तीव्रता बढ़ाने का सिंग्नल भेजता है। जिससे इरेक्शन यानि पर्याप्त तनाव की प्राप्ति होती है। परन्तु जब उत्तेजित होने के बाद भी सेक्स के लिए गुप्तांग में तनाव उत्पन्न न हो इसे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहते है। जिससे वैवाहिक जीवन में पति-पत्नी में असंतोष देखने को मिलता है। यह दो प्रकार का होता है – लॉन्ग टर्म और शार्ट टर्म।

लॉन्ग टर्म इरेक्शन समस्या:-
इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या अगर आप के साथ लम्बे समय तक बनी रहती है, इसके पीछे कोई अन्य गंभीर बीमारी नहीं हो सकता है। डायबिटीज़, हाई ब्लड प्रेशर में असंतुलन और कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से भी गुप्तांग में रक्त प्रवाह प्रभावित हो सकता है। जिससे इरेक्शन की कमजोरी हो सकती हैं। इसके अलावा टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन जो की पुरुष सेक्स हॉर्मोन होता है, इसका लेवल बहुत कम हो जाने तथा स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल का लेवल बढने की वजह से इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या ज्यादे दिनों तक बनी रहती है।
Read More:- इन 5 यौन समस्याओं का जल्द करे इलाज, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

शार्ट टर्म इरेक्शन समस्या:-
कई बार ये समस्या आपके जीवनशैली पर निर्भर करती है, जैसे- मानसिक तनाव, चिंता, थकान, बेचैनी, अत्यधिक एल्कोहल का सेवन, जैसी अन्य ख़राब आदतों की वजह से हो सकती है। कई बार पुरुष अपने सेक्सुअल परफॉरमेंस को लेकर चिंतित हो जाता है जिससे सही समय पर इरेक्शन पाने में परेशानी आती है। कई बार थोड़े देर के लिए तनाव आता है फिर तुरंत ही ढीला पड़ जाता है। इस शार्ट टर्म इरेक्शन समस्या को अपनी जीवनशैली में सुधार करके तथा कुछ टेस्टोस्टेरॉन वर्धक तत्वों का सेवन करके हल किया जा सकता है।
Read More:- सेक्स के बाद भूलकर भी ना करे ये गलतियां

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लक्षण:-

  • इरेक्शन पाने में असमर्थ महसूस करना
  • इरेक्शन पाने में अधिक समय लगना
  • वीर्यपात के बाद तुरंत ढीला पड़ना
  • प्रथम की तुलना में दूसरी बार इरेक्शन में ज्यादा समय लगना
  • यौन क्रिया के दौरान स्खलन से पूर्व ही ढीला पड़ना
  • कमजोर इरेक्शन की प्राप्ति

erectile dysfunction problems

इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या में ऊपर दिए गए निम्न लक्षण दिखने लगते है। आइये जानते है इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शारीरिक और गैर शारीरिक कारण के बारे में जिससे यौन जीवन बाधित हो सकती है:-

  • यौन रोग से पीड़ित
  • तंत्रिका कमजोरी (नसों में रक्त प्रवाह की कमी)
  • हाई लेवल कोलेस्ट्रॉल
  • डायबिटीज लेवल हाई होने से तंन्त्रिका की क्षति
  • होर्मोंन संबंधी विकार
  • BP असंतुलन
  • नशीली पदार्थ के सेवन से रक्तवाहिकाओं का क्षतिग्रस्त होना
  • आनुवंशिक या जन्मजात
  • तनाव
  • घबराहट
  • थकान
  • अपने ख़राब प्रदर्शन से चिंतित होना तथा इसके बारे में ज्यादा सोचना

बचने के लिए क्या करे:-
इस समस्या से बचने के लिए सबसे पहले तो अपने जीवनशैली में सुधार करे तथा गलत आदतों को आज ही छोड़े। इसके साथ ही हम आपको बताते है कुछ आयुर्वेदिक जड़ीबूटियों के बारे में जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन से छुटकारा दिलाकर यौन जीवन में खुशहाली ला सकती है। आपने अश्वगंधा, शिलाजीत, तथा श्वेत मूसली के बारे में तो सुना ही होगा? तो आइये है इनके गुण और स्वास्थ्य लाभ।

Best medicine for erectile dysfunction

शिलाजीत:- शिलाजीत जिसे इंडियन नेचुरल वियाग्रा के नाम से भी जाना जाता है। इसमें ह्यूमिक एसिड और फल्विक एसिड नामक खनिज तत्व पाए जाते हैं। जो, सेक्स से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने का काम करते हैं। इसके इस्तेमाल से गुप्तांग में रक्त प्रवाह समुचित होता है। नसों में मजबूती आती है तथा रोमांचक पेनिट्रेटिव क्रिया के लिए मजबूत इरेक्शन की प्राप्ति होती है। यानी यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Ayurvedic Medicine for Erectile Dysfunction) के लिए उत्तम आयुर्वेदिक औषधि है।

Benefits of white musali in sexual problems

श्वेत मूसली:- श्वेत मूसली एक बहुत ही उत्तम और कामोत्तेजक आयुर्वेदिक औषधि है। इसके सेवन से पेनिस के टिश्‍यूज को ताकत मिलती है। टेस्टोस्टेरोन तथा स्पर्म काउंट में बृद्धि होती है। इससे लंबे समय तक इरेक्शन बनाए रखने में मदद मिलती है। इसके सेवन से सम्पूर्ण यौन स्वास्थ्य में सुधार होता है।

ashwagandha benefits for erectile dysfunction

अश्वगंधा:- अश्वगंधा एक ऐसी जड़ीबूटी है जो सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। इसके इस्तेमाल से सप्तधातुओं को पोषण मिलता है, तथा मांशपेशियों का निर्माण होता है। इसके सेवन से टेस्टोस्टेरोन और स्पर्म में तेजी से इजाफा होता है और इन्फर्टाइल यानी नपुंसक पुरुष भी मर्द बन जाते है। इसके सेवन से शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड का उत्पादन बढ़ता है, तथा खून के जरिए जेनिटल्स यानी जननांगों तक पहुंच जाता है। जिससे सेक्सुअल डिजायर यानि कामेच्छा और और संतुष्टि में बृद्धि होती है।
Know More:- Natural Remedies to Increase Male Sex Stamina and Power

इन सभी जड़ीबूटियों का उत्तम क्वालिटी मिलना लगभग मुश्किल है, और सबसे बड़ी बात उचित मात्रा में मिश्रण करना है। AR आयुर्वेदा ने इनके जैसी अन्य उपयोगी जड़ीबूटियों को उचित मात्रा में मिश्रित करके बुल राइडर कैप्सूल का निर्माण किया है। यह सेक्स स्टैमिना बढ़ाने (Ayurvedic Medicine for sex stamina) तथा पुरुष इरेक्शन की समस्या में राहत पाने में सहायक है।
best ayurvedic medicine for sex stamina

वैसे तो आयुर्वेदिक जड़ीबूटियां दुष्प्रभावहीन होती है। परन्तु ध्यान रहे किसी भी समस्या में इका सेवन चिकित्सक की देखरेख में मात्रानुसार ही करे। क्यूंकि अधिक मात्रा में भोजन भी नुकसानदेह हो जाता है इसलिए मात्रा का ध्यान अवश्य रखे !

तो दोस्तो, हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा? अगर अच्छा लगा, तो इसे अन्य लोगों के साथ भी ज़रूर शेयर करें। न जाने कौन-सी जानकारी किस ज़रूरतमंद के काम आ जाए। साथ ही, अगर आप किसी ख़ास विषय या परेशानी पर आर्टिकल चाहते हैं, तो कमेंट बॉक्स में हमें ज़रूर बताएं। हम यथाशीघ्र आपके लिए उस विषय पर आर्टिकल लेकर आएंगे, धन्यवाद!!

Ayurvedic Health Care Advertisement